शर्तों के साथ रामलीला मंचन,यूपी में दुर्गा पूजा के आयोजन पर रोक :: सीएम योगी आदित्यनाथ

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि प्रदेश में रामलीला (Ramleela) के मंचन की परंपरा नहीं टूटेगी, लेकिन लोगों की भीड़ भी नहीं होनी चाहिए. हालांकि दुर्गा पूजा (Durgapuja) का आयोजन बिल्कुल नहीं किया जाएगा, और न ही बड़ी बड़ी झांकियां लगेंगी.  

लखनऊ: यूपी में कोरोना महामारी (Corona Pandemics) को लेकर सरकार ने नए आदेश जारी किए हैं, जिसमें इस साल दुर्गा पूजा का आयोजन नहीं किया जाएगा. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि प्रदेश में रामलीला (Ramleela) के मंचन की परंपरा नहीं टूटेगी, लेकिन लोगों की भीड़ भी नहीं होनी चाहिए. हालांकि दुर्गा पूजा (Durgapuja) का आयोजन बिल्कुल नहीं किया जाएगा और न ही बड़ी बड़ी झांकियां लगेंगी.

शर्तों और कोरोना गाइडलाइंस के अनुरूप होगा रामलीला का मंचन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दशहरा पर रामलीलाओं के मंचन की परंपरा नहीं टूटेगी. रामलीला का मंचन किया जा सकेगा, लेकिन शर्त रहेगी कि वहां 100 से ज्यादा दर्शक नहीं होंगे. कोविड 19 के संक्रमण के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जाएगा. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सेनिटाइजेशन, मास्क और हाथ धोने के निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा.

दुर्गा पूजा के सार्वजनिक आयोजन पर रहेगी रोक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सड़क पर कोई भी आयोजन नहीं होगा, न ही कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से मेले भी नहीं लगेंगे. यही नहीं, इस बार दुर्गा पूजा का आयोजन भी सार्वजनिक तौर पर नहीं होगा, बल्कि लोग अपने घरों में दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित कर पूजन-अर्चन कर सकते हैं.

शादी में बजेंगे बैंड, रोड लाइट की भी अनुमति
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शादी व्याह के आयोजन में बैंड बाजा, रोड लाइट की अनुमति सरकार दे रही है. लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. हालांकि अब शादी समारोहों में 100 लोगों के शामिल होने की छूट मिल गई है. उन्होंने कहा कि शादियों में उचित सुरक्षा का ध्यान रखते हुए रोड लाइट और बैंड बाजे का इस्तेमाल किया जा सकता है.